मार्क जुकरबर्ग बायोग्राफी | Biography of Mark Zuckerberg in hindi

फेसबुक फाउंडर मार्क जकरबर्ग के संघर्ष और सफलता की कहानी जिस उम्र में बच्चे अपने माता-पिता से जिद कर कहते है कि मुझे खिलौना चाहिए उस उम्र में एक ऐसा भी बच्चा था जो सिर्फ 12 साल की उम्र में ही एक App Developer बन चुका था और एक Music Player App को Develop कर लिया था।

उस बच्चे ने आगे चलकर दुनियाभर में अपना नाम रौशन किया और सबको बता दिया कि काम करने का कोई उम्र नही होती साथ में सफलता पाने की कोई खास उम्र की जरूरत भी नही होती है। उस सख्स को आज मार्क जुकरबर्ग के नाम से पूरी दुनिया में जाना जाता है।  

इस आर्टिकल में हम आपको मार्क जुकरबर्ग की जीवनी | Mark Zuckerberg biography in hindi के बारें में बताने वालें है। आप भी अपने जीवन में कोई बड़े लक्ष्य लेकर रखा है और उसे पूरा करने की सोच रहे है जिससे आपको अपने जीवन में सफलता मिल सकें तो आपको मार्क जुकरबर्ग की बायोग्राफी जरूर पढ़नी चाहिए। जिसने शुंन्य से शिखर तक अकेले ही रास्ता तैयार कर सफलता प्राप्त की है। 

मार्क जुकरबर्ग कौन है | Who is Mark Zuckerberg in hindi

मार्क जुकरबर्ग एक अमेरिकन Business Man है और Social Networking Platform Facebook के Co-Founder यानि CEO है। इन्होने दुनियाभर में प्रसिद्ध Facebook का स्थापना किये थे। Forbes  2020 के Report के अनुसार मार्क जुकरबर्ग दुनिया के 4थे सबसे अमीर आदमी है जिनका Net Worth 75.6 Billion Dollars है।  

इनको अपने बचपन की उम्र से ही कम्प्युटर के बारें में जानना बहुत ही पसंद थी और यह अधिकतर समय कम्प्युटर पर ही अपना समय बिताते थे। मार्क जुकरबर्ग को कम्प्युटर में अधिक रुचि होने के कारण इनका Interest Computer Programming Language में भी होने लगी थी।

मार्क के बचपन के समय कम्प्युटर दुनिया में उतना अधिक प्रचलन में नही था, लेकिन यह फिर भी कम्प्युटर के बारें में नई-नई जानकारी हासिल करते गये और एक समय ऐसा आया कि यह Technology की दुनिया में ही इनका नाम रौशन हो गया। 

मार्क जुकरबर्ग बायोग्राफी | Biography of Mark Zuckerberg in hindi

Mark Zuckerberg ki jiwani मार्क जुकरबर्ग का पूरा Mark Elliot Zuckerberg है। इनका जन्म 14 मई 1984 को अमेरिका के न्यूयार्क में हुआ था। इनके पिता का नाम Edward Zuckerberg है जो पेशे से एक डेंटिस्ट (दाँतो का डॉक्टर) थे तो वही इनके माता नाम Karen Kempner है जो पेशे से एक Psychiatrist (मनोचिकित्सक) थी।

नाम   मार्क जुकरबर्ग
पिता  एडवर्ड जुकरबर्ग
माता  करेन केम्पनर
जन्म  14 मई 1984
जन्म स्थान  व्हाइट प्लेन्स, न्यूयॉर्क, यू.एस.
शिक्षा हावर्ड यूनिवर्सिटी
व्यवसाय       इंटरनेट उद्यमी
पद    फेसबूक सीईओ
घर     डॉब्स फेरी, न्यूयॉर्क, यू.एस.
नेट वोर्थ       75.6 बिलियन डॉलर
शादी  19 मई 2012
पत्नी  प्रिसिला चान
बच्चा दो लड़की
नाम    August और Max
परिवार-बहन रैंडी जुकरबर्ग , डोना जुकरबर्ग

Mark Zuckerberg Family मार्क जुकरबर्ग का जन्म एक ऐसे परिवार में हुआ था जो यहूदी परिवार में गिनती होती है। मार्क के दो बहन (Randi ZuckerbergDonna Zuckerberg) भी है। एक बहन अमेरिकन Business Women है तो दूसरी बहन journal Eidolon कंपनी की editor-in-chief है। इन्होने 2012 में Priscilla Chan से शादी की जो अभी बाल रोग विशेषज्ञ और परोपकारी के रूप में काम कर रही है।

मार्क जुकरबर्ग का शुरुआती जीवन

Mark Zuckerberg Starting Life जैसा कि हमने आपको शुरू में बताया कि मार्क उसी समय से Computer Programming करना चालू कर दिये थे, जब वह मात्र 12 साल के थे। आपको बता दे, इन्होने programming करना उस समय से प्रारम्भ कर दिये थे, जब वह मिडल स्कूल का शिक्षा प्राप्त कर रहें थे।

मार्क जुकरबर्ग की computer में अधिक जिज्ञासा और उनके इसके बारें में बड़े-बड़े सवाल पुछने के कारण इनके पिता Edward Zuckerberg ने इनके लिए एक Computer Teacher को अपने घर पर मार्क को पढ़ाने के लिए Hire किये। इनका खास बात यह है कि मार्क जुकरबर्ग अपने कम्प्युटर शिक्षक से ऐसे-ऐसे सवाल पुछते रहते थे, जिनका जवाब उनके पास भी नही होता था।

एक दिन मार्क के पिता ने उनको Computer Programming Language C++ book उनके जन्मदिन पर Gift किये। उस समय मार्क फुले नही समा रहें थे। जैसे मानो मुसाफिर को रास्ता मिल गया हो। उनके सीखने की इस इक्षा ने ईश्वर भी इनको पथ प्रदर्शित किया।

जिस उम्र बच्चे Game खेलना पसंद करते थे, उस उम्र में इन्होने Zucknet नामक एक Messaging Program बना दिया जिसे उन्होंने अपने पिता के dental practice Lab में Patient को आने के लिए Message देता था। हर किसी दूसरे दिन मार्क के दिमाग में नई-नई आइडिया आते गया और वह इसपे काम करते गये।

मार्क जुकरबर्ग की शिक्षा

Mark Zuckerberg Education यह तेज दिमाग और अच्छे प्रदर्शन करने के कारण मार्क जुकरबर्ग को दुनिया में प्रसिद्ध Harvard University of America में Admission मिल गई। जहाँ दुनिया के बड़े-बड़े दिमाग वालें और बुद्धिजीवी ने अपना नामांकन करा रखा था। मार्क को भी ऐसे लोगों के साथ रहने का और उनसे कुछ सीखने का मौका मिल गया था।

मार्क जहाँ भी जाते अपने काला का प्रदर्शन जरूर करते थे। कुछ ऐसे ही वह अपने Harvard University में exceptional intelligence के कारण सबके सामने Famous हो गये थे। हर कोई उस University में इनके बारें में जान चुका था।

Mark Zuckerberg FaceMash Starting

उस समय university में एक Book हुआ करती थी, जिसमें सभी Students का Personal Details जैसे:- उनका नाम, फोटो, मोबाइल नंबर, एड्रेस, माता-पिता का नाम लिखा होता था। मार्क को उस Book जिसका नाम The Photo Address Book था के जरिये एक ऐसे Idea आया,

जिससे वह अपने 3 friends (Andrew McCollum, Chris Hughes and Dustin Moskovitz) के साथ मिलकर 28 October 2003 को FaceMash नामक एक Website Develop कर Launch किया।

जिस तरह अभी Social Media पर DP Battle नामक Competition होती है, ठीक उसी तरह FaceMash पर एक दूसरे के Photo पर Voting करनी होती थी, जिसमें Hot And Not का option दिया हुआ रहता था। अपने अनुसार सब Vote करता था।

इस Website को लेकर मार्क जुकरबर्ग को बहुत अधिक डांट भी पड़ी, बात यहाँ तक कि होने लगी थी कि इन्हे University से निकाल दिया जाये, ऐसा इसलिए कि इन्होने Harvard University का Website Hack कर लिया था जो उस जमाने की सबसे Secure Website मानी जाती थी और मार्क जुकरबर्ग ने उस website से Girls का Photo चुराकर अपने site FaceMash पर Upload कर Competition करवाते थे।

जिससे कई Girls Students ने इसका विरोध करना चालू कर दिया और यह पूरे University के Staff तक पहुँच गई थी। जिससे मार्क को बहुत ही समस्या का सामना करना पड़ा। इस बात को लेकर अधिक विवाद होने के कारण FaceMash website को delete करना पड़ा।

Mark Zuckerberg Facebook Starting

मार्क जुकरबर्ग के इस आइडिया पर कॉलेज स्टूडेंट्स के सामने बहुत चर्चा हुई, जिससे उसी university के तीन स्टूडेंट्स Cameron Winklevoss, Tyler Winklevoss और Divya Narendra ने उनके पास एक ऐसे website का आइडिया लेकर आए,

जहाँ पर हर कोई अपना फोटो डाल सकता है, अपने बारें में लिख सकता है, दूसरे को दोस्त बना सकता है, उससे बात कर सकता है इत्यादि जैसी बातें वह मार्क जुकरबर्ग को कहें और उनसे ऐसी website develop करने का अनुरोध किया। मार्क इसके लिए राजी भी हो गये थे।  

ऐसा कहा जाता है कि मार्क जुकरबर्ग उनके आइडिया को चुराकर कॉलेज drop out हो गये और एक ऐसे social networking platform की शुरुआत करने में जुट गये, जहाँ से पूरी दुनिया के लोग उनके साथ मिल सकें। Harvard university में उन्होने इसका नाम Harvard Connection रखा था।

उसके बाद मार्क ने TheFacebook नामक Domain register किया। इन्होने उस समय तक इस website पर students का प्रोफ़ाइल बनाने का सोचा था। इसके बढ़ती लोकप्रियता को देखकर यह social platform दूसरे college के students के सामने भी प्रसिद्ध होने लगी थी।

इसके users की बढ़ती संख्या को देखते हुये मार्क जुकरबर्ग ने TheFacebook नाम में संसोधन कर facebook.com domain register किया और यह ऐलान किया कि अब इस social site को सिर्फ students ही नही दुनिया के हर कोई लोग इसका इस्तेमाल कर सकेंगे। देखते ही देखते Facebook पूरी दुनिया में प्रसिद्ध होने लगी थी।

इस तरह फेसबूक की शुरुआत 04 फरवरी 2004 को हुई। यह एक पहला ऐसा social platform थी जो कुछ ही समय में करोड़ो users की संख्या को पार कर चुकी थी। वर्ष 2007 तक facebook पर करोड़ो user profile और लाखों Business Accounts बन चुके थे। फिर इन्होने इसे Digital Advertisement कर Ad देकर पैसा कमाने लगे और दूसरे के Business को promote करने लग गये।

24 मई, 2007 को उन्होंने फेसबुक प्लेटफार्म की घोषणा दुनिया भर में किया। इस घोषणा के कारण पुरे विश्व भर से 800000+ से भी ज्यादा developer फेसबुक से जुड़े । एप्लीकेशन डेवेलोप करने के लिए बहुत सारी थर्ड पार्टी कंपनीयां फेसबुक से जुड़ने लगी। उनमे से कुछ मुख्य कंपनियां थी, Microsoft, Amazon, Slide, RockYou, Box.net, Red Bull, Washington Post, Project Agape, Prosper, Snapvine, iLike, PicksPal, Digg, Plum

फेसबूक बनने के बाद

After facebook Develop वर्ष 2010 का यह वह दौर था, जब पूरी दुनिया में मार्क जुकरबर्ग का नाम फैल चुका था। आज भी जब भी facebook का ख्याल आती है तो लब पर मार्क जुकरबर्ग एक महान और दृढ़ निश्चय वाला शख्स का नाम जरूर आता है। यह पहले ऐसे दुनिया के young entrepreneur थे जो मात्र 19 साल की उम्र में ही करोड़पति बन चुके थे।

धीरे-धीरे इन्होने अमेरिका के अलावा अलग-अलग देश में facebook का company स्थापित किया, लेकिन उनका head quarter Menlo Park, California, United States में रखा और खुद को facebook बनाने का श्रेय लेते हुये उन्होने इसका CEO पद को संभाला।

उन्होने अपने एक interview में कहा था कि facebook का शुरुआत, इसलिए किया गया है ताकि लोग दुनियाभर से जुड़ सकेंगे और अपनी जानकारी साझा कर सकेंगे। वर्तमान समय में facebook का 2.6 बिलियन्स एक्टिव users है। जो दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा Visit किया जाने वाला website है, पहला स्थान Google का है।

मार्क जुकरबर्ग की शादी

Mark Zuckerberg Wedding/Wife फेसबूक का बिज़नस दिन दुगनी-रात चौगुनी बढ़ती ही जा रही थी, तो वही मार्क जुकरबर्ग को एक ऐसे साथी की तलाश थी, जो उनके साथ अपना जीवन व्यतीत कर सकें। वो भी दिन आ गया जब मार्क ने 19 मई 2012 को Priscilla Chan के साथ सात फेरे लिए। आज इनकी दो प्यारी बेटियाँ August और Max है।

Mark Zuckerberg Wife Priscilla Chan अभी बाल रोग विशेषज्ञ और परोपकारी के रूप में कम कर रही है और मार्क के साथ बिज़नस में भी सहयोग कर रही है। जब भी यह दोनों कही घूमने जाते है तो उसका फोटो social media पर share करते है।

Mark Zuckerberg interesting facts in hindi

मार्क जुकरबर्ग की रोचक बातें इन इंसान से हर इंसान को कुछ सीखने को मिलता है कि जीवन में टाफी सफल हुआ जा सकता है जब आप सच में सफल होना चाहते है। हम मार्क जुकरबर्ग के बारें में कुछ रोचक तथ्य में जानते है:-

  • मार्क दुनिया का पहला ऐसे young entrepreneur है जो सिर्फ 19 साल की उम्र में करोड़पति और 23 साल की उम्र में अरबपति बन चुके थे।
  • जिस उम्र में बच्चा खेलने की सोचता है मार्क उस उम्र में Game App Develop कर दिये थे।
  • मार्क का कम उम्र होने कारण कुछ बड़े expert उन्हें उतना serious में नही लेते थे और इन्हें Toddler CEO यानि बच्चा CEO कह उनका मज़ाक बनाते थे।
  • Facebook को develop करने के लिए वह अपनी कॉलेज की पढ़ाई बीच में ही छोड़ दिये और अपना पूरा ध्यान इसी पर लगा दिये।
  • मार्क पर आरोप लगे कि उन्होंने फेसबुक का आईडिया Harvardconnectins.com से चुराया है।
  • दुनियाभर में प्रसिद्ध Forbes Agency के अनुसार मार्क जुकरबर्ग दुनिया के 4th सबसे अमीर आदमी है।
  • कई बड़ी-बड़ी कंपनी जैसे:- Yahoo, Amazon इत्यादि ने facebook खरीदने के लिए इक्षा जाहीर की, लेकिन मार्क ने इसे नही बेचा और अपना कैरियर इसी में बनाने की सोचे और बनाये।
  • मार्क जुकरबर्ग पर अमेरिका में Hollywood film The Social Network बन चुकी है। जिसमें मार्क का जीवन और facebook बनने की पूरी कहानी बताई गई है।
  • मजेदार बात यह है कि मार्क जुकरबर्ग दुनिया के पहले सबसे कम उम्र के CEO बने।
  • मार्क ने Giving Pledge पर हस्ताक्षर किए हैं, जिसका अर्थ है कि वह मरने से पहले अपने Net Worth का कम से कम 50% परोपकारी कामो के लिए दान में दे देंगे। 2010 में उन्होंने न्यू जर्सी में Newark School System को बचाने के लिए 100 मिलियन डॉलर से अधिक का दान दिया है।

एक ऐसा व्यक्ति जो अपने कड़ी मेहनत और प्रयास करके साथ में रिस्क लेकर 19 साल की उम्र में ही दुनिया के हर लोगों को जोड़ दिया और यह संदेश दिया कि आप वह हर कुछ कर सकते है, जिसे आप करना चाहते है। उनका कहना है कि प्रश्न ये नहीं है की ‘हम लोगों के बारे में क्या जानना चाहते हैं?’ प्रश्न ये है की ‘लोग अपने बारे में क्या बताना चाहते हैं?  

11 दिसम्बर 2014 में मार्क ने अपनी कंपनी के मुख्यालय में एक प्रश्न उत्तर सत्र में लोगों का जवाब देते हुआ कहा फेसबुक से लोगों का समय बर्बाद नहीं होता क्योंकि इससे लोग अपनों से और अपने समाज से जुड़े रहते हैं। साथ ही Facebook ने साल 2014 में दुनिया कि सबसे पोपुलर Chatting App WhatsApp को 20 बिलियन अमरीकी डॉलर में ख़रीदा

Mark Zuckerberg net worth

अगर हम मार्क की कूल संपत्ति की बात करें तो मई 2020 के अनुसार 75.6 बिलियन डॉलर की है। इससे पहले उनके पास अगस्त 2019 में 68.2 बिलियन डॉलर की कूल संपत्ति थी। फेसबूक, instagram के जरिये वह दूसरों का Advertisement करके पैसा कमा रहे है। और नई दूसरी कंपनी को खरीद रहे है।

भारत का सबसे अमीर आदमी मुकेश अंबानी की कंपनी Reliance Jio के साथ 5.7 बिलियन्स डॉलर का investment किया है। जिससे दुनिया का दूसरा सबसे अधिक internet users वालें देश India में internet को और Develop किया जा सकें।

मार्क जुकरबर्ग के प्रेरक विचार Mark Zuckerberg Quotes in hindi

मार्क ने कई ऐसी प्रेरणादायक बातें कही है, जिससे लोग उनसे कुछ सीख सकते है। हम आपके साथ मार्क जुकरबर्ग का Motivational Quotes in hindi साझा कर रहे है, जिससे आप उनसे कुछ सीख सकते है:-

  • उस चीज को खोजिये जिसे लेकर आप सुपर पैशनेट हों
  • बेहतर होगा कि आप कोशिश करें और नाकामयाब हो जाएं और उससे कुछ सीखें बजाये इसके की आप कुछ करें ही नहीं।
  • बसे बड़ा रिस्क कोई रिस्क ना लेना है …इस दुनिया में जो सचमुच इतनी तेजी से बदल रही है , केवल एक रणनीति जिसका फेल होना तय है वो है रिस्क ना लेना।
  • तेजी से बढ़ो और चीजों को तोड़ो। जब तक कि आप चीजों को तोड़ नहीं रहे, आप उतनी तेजी से नहीं बढ़ रहे हैं
  • प्रश्न ये नही है कि, ‘ हम लोगों के बारे में क्या जानना चाहते हैं?’, प्रश्न ये है कि, ‘ लोग अपने बारे में क्या बताना चाहते हैं?
  • फेसबुक की सच्ची कहानी बस यह है कि हमने हर समय बड़ी मेहनत से काम किया.हम 6 साल तक अपने कंप्यूटर पर बैठ कर बस कोडिंग करते रहे
  • जब मैं हार्वर्ड में पढ़ रहा था तो मैंने कुछ और भी चीजें बनायीं थीं जो एक तरह से फेसबुक के छोटे वर्जन्स थे
  • मैं खुद से जो सवाल हर दिन पूछता हूँ,क्या मैं वो सबसे ज़रूरी काम कर रहा हूँ जो मैं कर सकता हूँ?
  • मैंने साईट तब शुरू की जब मैं 19 साल का था.तब मैं बिजनेस के बारे में बहुत ज्यादा नहीं जानता था
  • वो सवाल जो मैं लगभग हर दिन खुद से पूछता हूँ, क्या मैं वो सबसे जरूरी काम कर रहा हूँ जो मैं कर सकता हूँ?

मार्क जुकरबर्ग बचपन से ही बहुत ही तेज थे, अगर वह facebook नही भी बनाते तो भी वह कुछ ना कुछ बड़ा ही करते। 19 साल का एक साधारण लड़का क्या कर सकता है वह बहुत कुछ कर सकता है इसका उदाहरण महान व्यक्ति मार्क जुकरबर्ग खुद ही है।

हम सभी को मार्क जुकरबर्ग से यह सीख लेनी चाहिए कि आप जिस चीज को पाना चाहते है उसे पाने का तब तक प्रयत्न करिए, जब तक वह आपको मिल नही जाता है, चाहे आपकी उम्र क्या छोटी ही क्यों ना हो। कुछ बड़ा करने के लिए उम्र नही हौसला और जज्बा देखी जाती है और उसे पाने की सहनशक्ति। आप बस मेहनत करों, सफलता आपकी कदम चूमेगी।

अंतिम शब्द   

आपने इस Article में फेसबूक संस्थापक मार्क जुकरबर्ग बायोग्राफी | Biography of Mark Zuckerberg in hindi के बारें में जाना। आशा करता हूँ आपको यह जानकारी पसंद आई होगी।

आपको लगता है कि यह Information सबके साथ Share करनी चाहिए तो इसे Social Media Facebook, Whatsapp इत्यादि पर अवश्य Share करें। शुरू से अंत तक इस Article को Read करने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया… 

0Shares

Leave a Reply