3डी इंटरनेट क्या है और कैसे काम करता है | What is 3D Internet And how does it work in Hindi

इस Article में आप जानेंगे कि 3D Internet क्या है | What Is 3D Internet In Hindi आप भी यह नही जानते है कि 3D Internet Kya Hai तो इसे Last तक Read करते रहें। जिसमें आप 3D Internet के बारें में पूरी जानकारी जान सकते है।

इंटरनेट एक जरिया बन चुका है दुनिया से जुड़ने का, दिन-प्रतिदिन इंटरनेट User की संख्या बढ़ ही रही है। अब हर कोई इसके साथ जुड़ना चाहता है और दुनिया के साथ कदम से कदम मिलाकर चलना चाहता है। इसके बढ़ती उपयोगकर्ता को देखते हुये Internet Technology को और अधिक Develop किया जा रहा है।

हम सब अभी 2D Internet का ही Use करते है और आने वालें Time में यह प्रक्रिया 3D Internet में बदल जायेगी। जिससे हम और अधिक इंटरनेट का फायदा ले सकते है और दुनिया से तेजी से रूबरू हो सकते है। अधिक समय नही लेते हुये हम अपने टॉपिक पर वापिस आते है।

3डी इंटरनेट क्या है | What Is 3D Internet In Hindi

3D Internat in Hindi इंटरनेट का यह एक ऐसी संचार का माध्यम है, जिसमें हम किसी भी चीज को चीज की रूबरू कल्पना कर सकते है, उसे महसूस कर सकते है, जैसा हम एक दूसरे के साथ बातचीत करते समय यह देखते है कि यह हमसे कितना बड़ा, कितना दूर और वह कैसा है इत्यादि जैसी चीजों को हम देखते है।

3D Internet का एक नया Generation है, जो हमारे आने वाली पीढ़ी को नसीब हो सकती है यानि वह 3D Internet का पूरा फायदा अपना शुरुआती दिनों से ही इस्तेमाल करना चालू कर देंगे, तब तक 2D Internet का प्रचालन खतम हो जायेगी, जिस तरह से 2G खत्म हो चुकी है।

जब हम अपने मोबाइल से किसी भी चीज का फोटो या विडियो लेते है तो वह तो हमें एक विडियो के रूप में दिखता है, लेकिन सच तो यह है कि वह विडियो कई फोटो से मिलकर बनी होती है। जैसे ही हम विडियो रिकॉर्डिंग करते है तो उसी छोटी समय के अवधि में कैमरा बहुत सारा फोटो को विडियो के रूप में बना देत है।

जो हम सब नही देख पाते है। यह प्रक्रिया इतना जल्द होती है कि इसकी कल्पना भी नही की जा सकती है। अभी 2d Internet में हम जितना भी Websites Visit करते है, चाहे वह Facebook, Google और अन्य तरह की साधारण Webpages ही क्यों ना हो यह सब में Documents का इस्तेमाल किया जाता है।

जब भी हम अभी किसी फोटो को इंटरनेट के जरिये कही से भी देखते है तो उसका Quality बहुत ही कम होती है। कहने का तात्पर्य यह है कि अभी जो हम 2D Internet के जरिये किसी भी फोटो को देख पाते है वह सिर्फ एक Particular Area से ही देख पाते है, जिस Particular Area का फोटो क्लिक किया गया होता है।

जब 3D Internet हम इस्तेमाल करेंगे तो किसी भी फोटो को चारों तरफ घूमाकर देख सकते है और Actual यह पता कर सकते है कि इसके चारो तरफ क्या है। अभी तो जो Animation इस्तेमाल करते है इसकी संख्या 3D Internet आने के बाद और बढ़ने लग जायेगी।

जैसे हम किसी भी विडियो को देख पा रहे है तो 3D तकनीक उसे हमें यह अहसाह करता है जैसे हम उसे वास्तविक में देख पा रहे है। साधारण भाषा में कहें तो किसी भी चीज को देखते समय यह महसूस करना कि यह मेरे पास में ही हो रही है तो इस प्रक्रिया को 3डी Internet कहते है।

अभी आप यह जानकारी इंटरनेट पर Text के रूप में पढ़ रहे है 2डी इंटरनेट के जरिये, लेकिन जब 3D Internet Technology आ जायेगी तो इसे आप Text के बजाय 3D Animation के रूप में देख सकते है और पढ़ भी सकते है। 3 डी इंटरनेट एक पारंपरिक ब्राउज़र के समान बुनियादी प्रौद्योगिकी और घटकों पर निर्भर करेगा, और यह समान खोज इंजन और सर्वर के साथ बातचीत करेगा।

3 डी कंप्यूटर ग्राफिक्स और व्यक्तिगत अवतारों के उपयोग के अलावा, महत्वपूर्ण अंतर आज के दो-आयामी इंटरनेट की तुलना में बहुत अधिक सामाजिक अनुभव में है।

3D Internet का जरूरत क्यों पड़ी?

जब भी हम किसी भी Project पर काम करना शुरू करते है तो सबसे पहले यह तय करते है कि इस Project से फायदा क्या होगा, लोगों को यह मदद कैसे करेगा, उसी तरह 3डी इंटरनेट की जरूरत क्यों पड़ी जैसी सवाल आपके दिमाग में भी चलती होगी।

अभी आप जब भी किसी Online Shopping Website से Shopping करते है, तो आप उस Product का अलग-अलग भाग का एक-एक करके फोटो देखते है और यह तय करते है कि यह ऐसा दिखता है, लेकिन 3D Internet हो जाने के चलते आप उसे चारो तरफ घूमा सकते है आपको इयसा लग सकता है जैसे आप उसे अपने हाथों से ही स्पर्श कर रहें है।

अभी आप सिनेमाघरों में देखते होंगे कि वहाँ आपको एक ऐसी 3D तकनीक से बनी डिवाइस देते है, जो आपके आँखों पर लगा दिया जाता है, जिससे आपको यह लगने लगता है कि यह फिल्म का दृश्य हमारेन आँखों के सामने ही हो रहा है और मैं उसके सामने खड़ा हूँ।

3D Internet कैसे काम करता है | How To Work 3D Internet In Hindi Internet

हम तक Optical Fiver के जरिये मिल पता है, जिससे हम भी Internet के साथ Connect हो पाते है। अभी का 2.0 इंटरनेट Version कई तरह की तकनीक का उपयोग करती है, इससे भी अधिक तकनीक का प्रयोग 3डी इंटरनेट भी करता है। 3D Internet निम्नलिखित तरीकों से काम करता है:-

  • यह Virtual Platform  I.E  Second Life का इस्तेमाल करता है।
  • Machine Learning और Artificial Intelligence जैसी तकनीक का इस्तेमाल बड़े पैमाने पर करता है।
  • Google Glass जैसी 3D  Eyewear का इस्तेमाल करता है, जिससे 3डी दुनिया से रूबरू हो पाते है।
  • यह Sixth-Sense Technology भी इस्तेमाल करता है।
  • Sensors And Holographic Image Projection से काम करती है।   

2डी और 3डी इंटरनेट में अंतर | Difference Between 2D And 3D Internet

अभी आप अपने Tv में किसी भी प्रोग्राम को एक फोटो के समूह द्वारा विडियो के रूप में देख पाते है, लेकिन आप 3D Internet में उस चीज को अपने सामने महसूस कर सकते है। इसका उदाहरण आप नीचे दिया गया फोटो में देख सकते है।

2D Technology

  • Less Interactive
  • More Wastage Of Time
  • Lack Of Proper
  • Representation
  • Normal Speed Of Working

3D Technology

  • More Interactive
  • Reduced Mouse Moments 
  • Simply Yet Effective Representation 
  • Increased Speed Of Working 

Last Word

आपने इस Article में 3D Internet Kya Hai Aur Yah Kaise Kaam  Karta Hai के बारें में जाना। आशा करता हूँ आपको यह जानकारी पसंद आई होगी।

आपको लगता है कि यह Information सबके साथ Share करनी चाहिए तो इसे Social Media Facebook, Whatsapp इत्यादि पर अवश्य Share करें। शुरू से अंत तक इस Article को Read करने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया… 

0Shares

Leave a Reply