IMC 2022: दिसंबर 2023 तक हर शहर, कस्बे और गांव तक पहुंच जाएगा 5G नेटवर्क- CMD मुकेश अंबानी

IMC 2022: दिसंबर 2023 तक हर शहर, कस्बे और गांव तक पहुंच जाएगा 5G नेटवर्क- CMD मुकेश अंबानी

नई दिल्ली. रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने भारत में 5जी इंटरनेट के लॉन्चके मौके पर इंडिया मोबाइल कांग्रेस को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने सभी को हार्दिक बधाई देते हुए कहा, ‘भारतीय टेलीकॉम इंडस्ट्रीज के रूप में हमने जो करके दिखाया है, मुझे उस पर बहुत गर्व है. इंडिया मोबाइल कांग्रेस को अब एशियन मोबाइल कांग्रेस, ग्लोबल मोबाइल कांग्रेस बनना चाहिए.’  साथ ही उन्होंने कहा कि दिसंबर 2023 तक हर शहर, कस्बे और गांव तक 5G इंटरनेट पहुंच जाएगा.

आरआईएल के सीएमडी मुकेश अंबानी ने इंडिया मोबाइल कांग्रेस को संबोधित करते हुए कहा, ‘भारत के सेलुलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन (COAI) और टेलीकॉम विभाग (DoT) के लिए मैं कह सकता हूं कि हम नेतृत्व करने के लिए तैयार हैं.’ उन्‍होने कहा, ‘इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2022 के छठे संस्करण के आयोजन के लिए टेलीकॉम मंत्रालय और सेलुलर ऑपरेटर्स संघ को मेरी हार्दिक बधाई. ये बेहद खास है, क्योंकि यह आजादी के अमृत महोत्सव के हमारे राष्ट्रीय उत्सव के साथ मेल खाता है. हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2047 तक भारत को विकसित राष्ट्र बनाने के लिए प्रेरक दृष्टिकोण साझा किया है.’

5G तकनीक परिवर्तनकारी प्रौद्योगिकियों की क्षमता खोलेगी
सीएमडी अंबानी ने कहा कि भारत के 5जी युग में तेजी से आगे बढ़ने के लिए उठाए गए कदम पीएम मोदी के दृढ़ संकल्प का एक सम्मोहक प्रमाण प्रदान करते हैं. 5G केवल अगले जेनेरेशन की कनेक्टिविटी तकनीक से कहीं ज्यादा है. यह एक नींव है, जो AI, IOT, रोबोटिक्स, ब्लॉकचैन और मेटावर्स जैसी परिवर्तनकारी प्रौद्योगिकियों की पूरी क्षमता को खोलती है. 5G और 5G से हासिल डिजिटल सॉल्यूशंस, सस्ती व उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा तथा कौशल विकास को आम भारतीयों की पहुंच के भीतर ला सकते हैं. इससे युवा भारतीयों को अपनी पूरी क्षमता का अहसास करने में मदद मिलेगी.

‘5G से गांव-गांव तक मिल सकेगी स्वास्थ्य सेवा’
रिलायंस के सीएमडी मुकेश अंबानी ने कहा, ‘5G टेक्नोलॉजी मौजूदा अस्पतालों को स्मार्ट अस्पतालों में बदलकर ग्रामीण और दूरदराज के क्षेत्रों में किफायती दर पर उच्च गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य सेवा प्रदान कर सकती है. इससे भारत में कहीं भी सर्वश्रेष्ठ डॉक्टरों की सेवाएं डिजिटल रूप से उपलब्ध होंगी.’ साथ ही कहा कि 5G तकनीक कृषि, सेवाओं, व्यापार, उद्योग, इन्फॉर्मल सेक्टर, परिवहन और ऊर्जा इन्फ्रास्‍ट्रक्‍चर के डिजिटलीकरण व इंटेलिजेंट डेटा मैनेजमेंट में तेजी लाकर शहरी तथा ग्रामीण भारत के बीच की खाई को पाट सकता है.

आरआईएल के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा, ‘इससे विकास को गति मिलेगी, जिससे वर्ष 2047 तक भारत को 40 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था और प्रति व्यक्ति आय को तेजी से 20,000 डॉलर तक बढ़ाने में मदद मिलेगी. इसलिए 5G एक डिजिटल कामधेनु की तरह है.’

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *